FRONTLINE NEWS CHANNEL

वायदा खिलाफी पर भड़की पनबस-पी.आर.टी.सी. यूनियन, सरकार के विरोध में की नारेबाजी

फ्रंट लाइन (रमेश नवदीप) पनबस-पी.आर.टी.सी. ठेका कर्मचारी यूनियन ने सरकार की वायदा खिलाफी पर रोष जताते हुए नारेबाजी की व कहा कि 6 महीने के कार्यकाल में सरकार उन्हें पक्का करने की फाइल को आगे बढ़ाने में कोई कदम नहीं उठा पाई है। सरकार को कुंभकर्णी निंद्रा से जगाने के लिए यूनियन ने कड़ा संघर्ष करना पड़ रहा है जिसके चलते 27 से 29 सितम्बर तक पनबस-पी.आर.टी.सी. से संबंधित बसों का चक्का जाम किया जाएगा।
चंडीगढ़ स्थित पनबस के हैड ऑफिस में दिए जा रहे धरने में शामिल होने के लिए डिपो इकाईयों के पदाधिकारी साथियों सहित रवाना हुए। उन्होंने बताया कि पंजाब के सभी 27 डिपुओं में रोष प्रदर्शन किए गए हैं। रोष प्रदर्शन में संबोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा कि 6000 से अधिक कर्मचारियों को चुनावों से पहले पक्के करने का आश्वासन दिया गया था जोकि अभी तक पूरा नहीं हो पाया है।
प्रदेश इकाई के सीनियर मीत प्रधान दलजीत सिंह जल्लेवाल, डिपो 1 के प्रधान गुरप्रीत सिंह भुल्लर, डिपो 2 के प्रधान सतपाल सिंह सत्ता ने कहा कि सरकार उन्हें पक्का करने प्रति गंभीर नजर नहीं आ रही जिसके खिलाफ 20 सितम्बर को ट्रांसपोर्ट मंत्री के निवास का घेराव किया जाएगा।
चंडीगढ़ धरने से वापस लौटे प्रदेश इकाई के महासचिव शमशेर सिंह ढिल्लों ने कहा कि सरकार लारे लगाने से बाज नहीं आ रही। पिछली बार मुख्यमंत्री से मीटिंग करने का आश्वासन दिलाया गया था व आज चंडीगढ़ रैली को रोकने हेतु मंत्री के साथ मीटिंग करवाने की मीठी गोली दी गई थी लेकिन यूनियन अब इन बातों में नहीं आएगी।
प्रदेश प्रधान रेशम सिंह गिल ने कहा कि सरकार द्वारा विभिन्न विभागों के कर्मचारियों को नजरअंदाज किया जा रहा है जिसके चलते विभिन्न यूनियनों द्वारा एकजुट होकर सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला जा रहा है। इसी क्रम में सी.टी.यू. वर्कर यूनियन के संयुक्त मोर्चा द्वारा पनबस-पी.आर.टी.सी. ठेका कर्मचारियों की हिमायत की गई है। उन्होंने कहा कि सरकार ने तुरन्त प्रभाव से कदम न उठाया तो 27 से 29 सितम्बर तक होने वाले चक्का जाम के लिए सरकार ही नीतियां जिम्मेदार होंगी।
PUNBUS-PRTC furious on anti-futures Slogans raised against union, government

Leave a Reply

Your email address will not be published.