FRONTLINE NEWS CHANNEL

जालन्धर में 10वीं के छात्र की मौत के मामले में नया मोड़, सामने आया हैरानीजनक सच

फ्रंट लाइन (फिल्लौर) छुट्टी के बाद घर जाते वक्त 10वीं कक्षा के छात्र साहिल को दूसरे स्कूल के 2 नौवीं और दसवीं के बच्चों ने पीटकर मौत के घाट उतार दिया था। पुलिस ने दोनों आरोपी बच्चे विशाल और मनवीर जिनकी आयु अभी 16 से 17 वर्ष के करीब है, के अलावा 3 अज्ञात बच्चों के विरुद्ध हत्या का मुकद्दमा दर्ज किया है।
परिवार और मोहल्लावासियों के धरने के बाद पुलिस ने जांच की तेज
अपने इकलौते बच्चे की इस तरह से अचानक मौत की खबर मां को हजम नहीं हुई। उन्होंने जब अस्पताल में अपने बच्चे का मृतक शरीर देखा तो साहिल की आंख गर्दन, पीठ के अलावा सिर के पिछले हिस्से पर गहरे घाव का निशान था जिसमें से खून निकल रहा था। आज परिवार के साथ मोहल्लावासियों ने पुलिस थाने के बाहर पहुंच धरना देकर चेतावनी दे दी कि जब तक उनके मृतक बच्चे को न्याय नहीं मिला, वे उसका अंतिम संस्कार नहीं करेंगे जिसके बाद पुलिस ने जांच तेज कर दी और कुछ बच्चों से पूछताछ के बाद घटना से पर्दा उठना शुरू हो गया।
अभी तक की पुलिस जांच से यह बात साफ हो गई कि छुट्टी के बाद जैसे ही साहिल स्कूल से अपने घर को जाने के लिए निकला तो रास्ते में दूसरे स्कूल के बच्चे विशाल और मनवीर जो 9वीं और 10सीं कक्षा के छात्र है अपने 3 साथियों के साथ क्लब रोड पर खड़े थे। जैसे ही साहिल उनके पास से गुजरने लगा ताक विशाल और मनवीर उस पर टूट पड़े। साहिल जब जमीन पर गिर गया और उसके मुंह से खून निकलने लग पड़ा तो वे उसे छोड़ कर वहां से भाग गए। थाना प्रभारी इंस्पेक्टर नरिंदर सिंह ने बताया कि आरोपी दोनों छात्रों के अलावा 3 अन्य छात्रों के विरुद्ध हत्या का मुकद्दमा दर्ज कर लिया गया है जिन्हें शीघ्र गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
मृतक माता ने बोली- बेटे की शिकायत को गंभीरता से ले लेती तो आज वह जीवित होता
मृतक की माता आशा रानी ने बताया कि उसके बेटे साहिल ने एक दो बार उसे शिकायत की कि कुछ बच्चे जो दूसरे स्कूल के हैं उसे रास्ते में घेर कर परेशान करते हैं। उसे उन बच्चों से डर लगता है। उसने अपने बेटे को यह कह कर चुप करवा दिया कि वे भी बच्चे हैं, डरने की कोई बात नहीं। उसे क्या मालूम था कि वह बच्चों के रूप में उसके हत्यारे है। काश वह अपने बच्चे की शिकायत को गंभीरता से ले लेती तो आज उसके जिगर का टुकड़ा उसकी आंखों के सामने होता।
New twist in the case of death of class 10th student in Jalandhar, surprising truth has come to the fore

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *