FRONTLINE NEWS CHANNEL

सिद्धू का बकाया बिल: सुखबीर पर भड़कीं नवजोत कौर, कहा-हम इज्जत से कमाई रोटी खाते हैं

फ्रंट लाइन (ब्यूरो) पंजाब में बिजली संकट पर पूर्व मंत्री नवजोत सिद्धू ने कैप्टन अमरिंदर सिंह को सलाह दी थी। फिर खुलासा हुआ था कि उनका अपना लाखों का बिजली बिल पेंडिंग है। इसके बाद सिद्धू पक्ष-विपक्ष के निशाने पर आ गए। इस पर शनिवार को उनकी पत्नी पूर्व विधायक नवजोत कौर सिद्धू मैदान में उतरीं और सभी सवालों का जवाब दिया। 
नवजोत कौर सिद्धू ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो अपलोड करके अपने पति पर लग रहे आरोप के बारे में स्पष्टीकरण दिया। साथ ही शिरोमणि अकाली दल के प्रधान सुखबीर सिंह बादल पर भी हमला बोला। नवजोत कौर ने बताया कि ज्यादा बिल आने के कारण पावरकॉम में जांच के लिए अपील डाली गई थी। जांच के बाद जो बिल बनेगा, उसे भरा जाएगा। 
नवजोत कौर ने सुखबीर सिंह बादल पर हमला बोलते कहा कि उनके पति नवजोत सिंह इज्जत से कमाई रोटी खाते हैं और तनख्वाह से ही गुजारा करते हैं। सिद्धू हमेशा बिल अपनी जेब से ही भरते हैं, उनकी तरह सरकार के खाते में नहीं डाला जाता है। यहां तक कि बीमारी का इलाज व कहीं घूमने जाना हो, उसका खर्च भी अपनी जेब से करते हैं। 
उन्होंने आरोप लगाया कि सुखबीर सिंह बादल व अन्य ने अपने इलाज और यहां तक कि निजी प्रोग्राम भी सरकारी खर्चे पर ही किए हैं। इसलिए सुखबीर बादल उनके बिजली बिल की फिक्र छोडकर अपनी तरफ झांकें। नवजोत कौर ने बताया कि कोरोना काल में जरूरतमंदों को राशन आदि सिद्धू परिवार की ओर से जेब से पैसे खर्च करके दिया गया। साथ ही शहीद ऊधम सिंह के पैतृक घर का बिजली बिल भरा गया और अमृतसर को डेढ़ करोड़ रुपये भी अपनी तरफ से ही दिए गए थे।
वहीं पीएसपीसीएल के एक आला अधिकारी ने बताया कि सिद्धू पर मार्च, 2021 में पीएसपीसीएल के 17,62,742 रुपये बकाया थे। उसी समय पीएसपीसीएल ने डिफाल्टरों के खिलाफ अभियान चलाया तो सिद्धू ने 10 लाख रुपये का भुगतान कर दिया लेकिन अभी भी पीएसपीसीएल की 8.74 लाख की राशि बकाया है। यह भी पता चला है कि सिद्धू ने अब बकाया बिल के वन टाइम सेटलमेंट के लिए आवेदन किया है। पीएसपीसीएल के अधिकारी ने बताया कि कम बकाया राशि वाले डिफाल्टर कई उपभोक्ताओं के बिजली कनेक्शन काटे गए हैं लेकिन राजनीतिक रसूख के कारण सिद्धू ऐसी कार्रवाई से बचे रहे हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *